• 17:21 Dec 05, 2020

Advertisement

By: TMI नेटवर्क, The Mobile Indian, New DelhiLast updated : May 09, 2018 1:31 pm

गूगल I/O 2018: एंड्रॉयड P की हुई घोषणा, जानिए क्या मिलेंगे फीचर्स

दुनिया की दिग्गज कंपनी गूगल ने अपनी सालाना I/O 2018 डेवलपर्स कॉन्फ्रेंस में आधिकारिक रूप से अपने 'एंड्रॉयड P' ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा कर दी है। इस बार यह नया एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम गूगल के AI (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) और मशीन लर्निंग खूबी के साथ है। गूगल के इस नए एंड्रॉयड OS में अडैप्टिव बैटरी, अडैप्टिव ब्राइटनेस, एप एक्शंस, स्लाइसेज के अलावा कई फीचर्स मिलेंगे।

 

अडैप्टिव बैटरी

इस नए अडैप्टिव बैटरी (Adaptive Battery) फीचर की मदद से स्मार्टफोन की बैटरी उन एप या सर्विस को प्राथमिकता देगी जिसे आप इस्तेमाल करते हैं। इसकी वजह से आपके स्मार्टफोन में ज्यादा से ज्यादा बैटरी काम के लिए यूज होगी और इससे बैटरी की क्षमता बढ़ जाएगी।

 

अडैप्टिव ब्राइटनेस

अडैप्टिव ब्राइटनेस (Adaptive Brightness) फीचर मशीन लर्निंग तकनीक का इस्तेमाल करता है ताकि स्मार्टफोन समझ सके कि आप अलग-अलग सैटिंग्स में या वातावरण में किस तरह के या कितना ब्राइटनेस रखना पसंद करते हैं।

 

एप एक्शंस

एंड्रॉयड P में एप एक्शंस (App Actions) फीचर मिलता है जो एक तरह से भविष्यवाणी करता है कि आपको आगे क्या करने की जरूरत है ताकि आप ज्यादा तेज और रचनात्मक हो सकें। उदाहरण के लिए जब आप हैडफोन कनेक्ट करेंगे तो यह आपका पंसदीदा गाना प्ले करने के लिए सुझाव देगा।

 

स्लाइसेज

स्लाइसेज (Slices) आपको सबसे ज्यादा इस्तेमाल करने वाले एप की और अधिक जानकारी देता है। जैसे आप टैक्सी सर्विस देने वाली एप 'Lyft' गूगल सर्च में सर्च करेंगे तो आपको स्लाइस में प्राइस और राइड टाइम आदि की जानकारी मिल जाएगी जिससे आप राइड जल्द से जल्द बुक कर पाएंगे।

 

न्यू सिस्टम नेविगेशन

एंड्रॉयड P में नेविगेशन कंट्रोल को पहले से बेहतर बनाया गया है। इस लेटेस्ट एंड्रॉयड वर्जन में होम स्क्रीन से ही नेविगेशन को एक्टिवेट कर पाएंगे। कंपनी का कहना है कि आजकल डिवाइस में बड़ा डिस्प्ले होने की वजह से यूजर्स को एक हाथ से नेविगेट करने में दिक्कत होती है। अब इस नए डिजाइन के साथ स्वाइप अप कर नया लेआउट आएगा और जिसके बाद यूजर्स हाल ही में यूज किए एप्स को देख पाएंगे। इससे यूजर्स इस्तेमाल के लिए एक से दूसरे एप में आसानी से स्विच कर पाएंगे या जा पाएंगे। एंड्रॉयड P में नए डिजाइन के साथ क्विक सैटिंग्स भी मिलता है, जिसके जरिए यूजर्स स्क्रीनशॉट लेने और एडिट करने, आसानी से वॉल्यूम कंट्रोल करने के साथ-साथ नोटिफिकेशंस को अब और आसानी से मैनेज कर पाएंगे।

 

स्मार्ट वेलबिइंग फीचर्स

एंड्रॉयड P

 

गूगल ने एंड्रॉयड P में कुछ wellbeing फीचर्स दिए हैं, जिसमें मुख्य रूप से डैशबोर्ड, एप टाइमर, विंड डाउन शामिल हैं। डैशबोर्ड पर यूजर्स देख पाएंगे कि स्मार्टफोन इस्तेमाल के दौरान कितना समय किस चीज पर खर्च किया। डैशबोर्ड पर आप जान पाएंगे कि किस एप को कितने समय तक यूज किया, डिवाइस को कितनी बार अनलॉक किया और आपने कितने नोटिफिकेशंस रिसीव किए।

 

एप टाइमर फीचर की मदद से किसी एप पर आप टाइम लिमिट सैट कर सकते हैं। जिसका मतलब यदि आप किसी एप को कुछ देर के लिए इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो उसपर टाइमर लगा सकते हैं। इसके साथ ही अब 'Do Not Disturb' फोन कॉल्स और नोटिफिकेशंस के साथ-साथ विजुअल जैसे स्क्रीन पर आने वाले पॉप अप को भी साइलेंट करेगा। अंत में बात करें विंड डाउन फीचर के बारे में तो यह अंधेरे में 'नाइट लाइट' को ऑन कर देता है और सोने के टाइम स्क्रीन को थोड़ा डार्क सा कर 'Do Not Disturb' ऑन कर देता है ताकि आपको पता चल सकें कि सोने का समय हो गया है।

 

एंड्रॉयड P बीटा गूगल पिक्सल स्मार्टफोन्स के लिए उपलब्ध है। कंपनी ने जानकारी दी है कि एंड्रॉयड P बीटा अपडेट जिन स्मार्टफोन्स को शुरुआत में उपलब्ध होंगे उनमें सोनी एक्सपीरिया XZ2, शाओमी Mi मिक्स 2s, नोकिया 7 प्लस, ओप्पो R15 प्रो, वीवो X21, वनप्लस 6 और Essential PH-1 शामिल हैं।

 

फेसबुक पर भी टेक खबरों से जुड़े रहने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज

You might like this



Tags: एंड्रॉयड P गूगल I/O 2018 गूगल एंड्रॉयड P ऑपरेटिंग सिस्टम

Advertisement

You might like this